Best Tourist Places in porbandar - पोरबंदर में घुमने के लिए सबसे अच्छे स्थल - Tourist and travel place

Latest

Tourist and travel place

Tourist place, tourist place India, travel, holiday place, best tourist place, tourist and Travel place, holiday place, India history, दर्शनीय स्थल, घूमने की जगह, प्रसिद्ध स्थल, भारत के दर्शनीय स्थल, भारत का इतिहास, पर्यटन स्थल

Sunday, December 29, 2019

Best Tourist Places in porbandar - पोरबंदर में घुमने के लिए सबसे अच्छे स्थल

हेलो दोस्तो मैं आपको पोरबंदर मैं घुमने के सब छे अच्छी जगह के बारे में जानकारी दूंगा.

1:-  कीर्ति मंदिर (Kirti Mandir)         

Karti mandir porbandar


    कीर्ति मंदिर गूजरात ना सौराष्ट्र के पोरबंदर शहर में स्थित है. पोरबंदर महात्मा गांधी जन्म स्थान है. महात्मा गांधी ने २ अक्टूबर १८६९ तीन मंजिला भवन में जन्म हुआ था.
 

  कीर्ति मंदिर महात्मा गांधी और उनकी पत्नी कस्तूरबा का घर था. महात्मा गांधी का जन्म हुआ था उसके पास यह जगह है. गांधी जी के घर को अब संग्रहालय बना दिया है वहां गांधी जी से जुड़ी वस्तुओं और चीजों को रखा गया है.


     कीर्ति मंदिर पोरबंदर का मूख्य आकर्षण केंद्र है. यहा पर देश-वेदेश से बूहूत सारे लोग मूलाकाल करते हैं.



2:-  चौपाटी बीच (porbandar beach)

                   
Porbandar beach


   पोरबंदर का चौपाटी बीच मूख्य आकर्षण का केंद्र है. चौपाटी बीच पर हझूरो महेल भी है. चौपाटी बीच पर्यटकों आकर्षण का केंद्र है. चौपाटी बीच पर्यटन के लिए बहुत अच्छी जगह है आप परीवार के साथ यहां घूमने आ सकते है. यहां पर देश-विदेश बहुत सारे पर्यटक मूलाकात करते हैं.


3:-  हुजूर पैलेस ( huzoor palace )

             
 huzoor palace porbandar


   हुजूर पैलेस पोरबंदर के दरिया कीनारे स्थित हैं. हुजूर पैलेस पोरबंदर में राणा नटवसिहंजी ने बनवाया था. जो २० मी सदी के पोरबंदर के अंतिम शासक थे.

   हुजूर पैलेस वास्तू कला की दृष्टि से जुड़ी जगह है. यह जगह प्रयटन की दृष्टि अच्छी जगह है. यहां आप परीवार के ऐक बार वेजट (visit) करें. हुजूर पैलेस को देखने देश-विदेश से बहुत सारे पर्यटक मूलाकात करते हैं.



4:-  कृष्ण सुदामा मन्दिर

Kirshna sudama Temple

    कृष्ण सुदामा मन्दिर पोरबंदर के मूख्य आकर्षण केंद्र में एक हैं. कृष्ण सुदामा मन्दिर पोरबंदर के बिचो बिच स्थत हैं.  कृष्ण सुदामा मन्दिर की वास्तुकला देखने लायक है. कृष्ण सुदामा मन्दिर कीर्ति मंदिर से थोड़ी दूरी पर स्थित है. कृष्ण सुदामा मन्दिर की जगह को सुदामा चोक कहा जाता है.

    मन्दिर में कृष्ण सुदामा की मित्रता की तस्वीरें और मूर्तियां हैं. लोगों को  तस्वीरें और मूर्तियां देखना बहुत पसंद हैं. मन्दिर में ऐक भूलभूलैया हैं. कहा जाता है के पीछले जन्मों के पापो को घो ना हो उसे भूलभूलैया को पार करना होगा.

   कृष्ण सुदामा मन्दिर आस्था से जुड़ा हुआ है. यहां पर देश-विदेश से लोग मूलाकाल करते हैं.


इन्हें भी पढ़ें - द्वारिका में घुमने के अच्छे स्थल और जानकारी


5:-  बरडा हिल्स वन्यजीव अभ्यारण (barda Hill's wildlife sanctuary)

       
barda Hill's wildlife sanctuary


    बरडा हिल्स प्रवासियों ओर कुदरत प्रेमी के लिए आकर्षण का केंद्र है. बरडा हिल्स दो भागों में है ऐक जामनगर ओर दूसरा पोरबंदर में लेकीन बरडा हिल्स पोरबंदर से 15 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है. बरडा हिल्स को 1979 में अभ्यारण का दर्जा दिया गया. बरडा हिल्स हायकीग के लिए बहुत अच्छी जगह है.


   यहां पर आपको बहुत सारे जानवर भी देखने को मिलें गे जेसे भेड़िया, तेंदुआ,रैटल, मगरमच्छ, गिरगिट, विषैला सांप,कलगी बाज,ईगल,स्पाटेड ईगल, साथ में लूप्त होते पक्षी और सरीसृप दिखाई देता है. 192.31 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है. बरडा हिल्स पर दो खूबसूरत नदियां बिलेश्र्वरी ओर जाघरी भी है.


  यहां पर फोटोग्राफर के लिए भी आकर्षण का केंद्र है कुदरत और पशु पक्षियों की फोटो ले सकते हैं. यहां पर देश-विदेश से लाखों पर्यटक मूलाकात करते हैं.




6:-  घुमली ऐतिहासिक स्थल (ghumli historical place)

               
Ghumli navlakha temple historical place


    पोरबंदर का ऐतिहासिक आकर्षक स्थल है. घुमली पोरबंदर से 35 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है. घुमली की स्थापना जेठवा साल कुमारे 7 मी सदी में की थी.


   अब घुमली गूजरात का ऐक पुरातत्व स्थल है. यहां पर ऐक पुरातत्व मन्दिर हैं. जीसे नवलखा मन्दिर से जाना जाता है. इस मन्दिर को गूजरात का सबसे पुराना सूर्य मंदिर माना जाता है. यहां पर ऐक कुवा भी है जीसका नाम विकाय कुंवा हैं. यह कुंवा काठीयावाड में सबसे बड़ा कुंवा हैं. यहां पर ऐक गणेश मंदिर है. जीसे घुमली गणेश कहा जाता है.


   ईस ऐक " रामपोड " दरवाजा हैं यहां पर देखने के लिए बहुत सारी पुरानी चीजें हैं. यह जगह प्रयटन की दृष्टि से भी आकर्षण का केंद्र है. यहां पर देश-विदेश से बहुत सारे पर्यटक मूलाकात करते हैं. आप भी ऐक बार मुलाकात करें.

 
   

No comments:

Post a Comment

Give me your feedback