दीव के पर्यटन स्थल - Tourist place in diu - Tourist and travel place

Latest

Tourist and travel place

Tourist place, tourist place India, travel, holiday place, best tourist place, tourist and Travel place, holiday place, India history, दर्शनीय स्थल, घूमने की जगह, प्रसिद्ध स्थल, भारत के दर्शनीय स्थल, भारत का इतिहास, पर्यटन स्थल

Wednesday, January 08, 2020

दीव के पर्यटन स्थल - Tourist place in diu

     दोस्तो आज मैं आपको दीव के पर्यटन स्थलों के बारे में जानकारी दुगा.

Diu Tourist place

     दीव गुजरात के अरब सागर के कीनारे बसा ऐक खूबसूरत टापु है. दीव केंद्र शासित प्रदेशों है. 1535 से 1961 पोर्तगालीयो का शासन रहा था. बाद में 1961 में लारत द्वारा चलाए गए विजय ओपरेशन के तहत दीव को लारत में शामिल हो गया. दीव सोमनाथ से थोडी दूरी पर है. दीव में बहुत पयटक स्थल है. दीव को अब स्मार्ट सिटी के रुप में विकसित किया जा रहा है. दीव में बहुत सारे बिच (beach) हैं. बिच ओर प्रकृति का खुबसूरत सम्मेलन देखने मिलता है. दीव का पुराना नाम जलधर दशहरा था. ऐसी मान्यता है कि यहां पर ऐक राक्षस का राज था. ओर वो भगवान विष्णु के हाथ मारा गया.तब से जलंधर नाम से जाना जाता था. इसके नाम का यहां पर ऐक मन्दिर भी है.

      दीव पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र है. यहां पर आप शान्त और खूबसूरत वातावरण में छुटियां बिता सकते हैं. यहां पर आप बीच के किनारे सनबाथ, तेरना, दोस्तो के साथ मस्ती कर सकते हैं. यहां पर आप समुद्र में डुबते सुर्य को देखने का आनंद उठा सकते हैं. तो फिर चलिए आज हम दीव के मशहूर पयटक स्थल के बारे में जानते हैं.


1:- नायदा गुफाएं - (naida caves)


नायदा गुफाएं, naida caves

       नायदा गुफा में बहुत सारी सुरंगों का जाल है. यह गुफाएं दीव किले के पास स्थित है. यह भुलभुलैया जेसी सुरंगें है. यह दीव का मुख्य पर्यटक स्थल है. एन गुफाओं का निर्माण पोर्तगालीयो के काल में हुआ था. यहां पर भारी संख्या में पर्यटक नायदा गुफाएं देखने आते हैं. हर साल यहां देश-विदेश लाखों पर्यटक घुमने आते हैं. यहां पर आप फ़ोटोग्राफ़ी हायकीग भी कर सकते हैं.


2:- नागोआ बीच - (nagoa beach)     

  
नागोआ बीच, nagoa beach

     नागोआ बीच दीव का सबसे ज्यादा लोकप्रिय स्थान है. नागोआ बीच कए होटल और रेस्टोरेंट और रिसोर्ट है. वहां पर सभी सुविधाएं उपलब्ध हैं. यहां पर खूबसूरत और अच्छे वातावरण का आनंद ले सकते हैं. शाम के समय बीच के किनारे डुबते सुर्य का सुनहेरा नजारा देखने का आनंद लें सकते हो. ओर नागोआ बीच पर पानी के सभी खेलों को खेल सकते हो. दीव में नागोआ बीच सबसे अधिक यात्री आते हैं. 


3:- दीव क़िला - (Diu fort)



दीव क़िला, Diu fort

     दीव क़िला समुद्र क़िला है क़िले के तिनो ओर समुद्र है. यह किला पोर्तगालीयो द्वारा बनाया गया था. यह दीव का ऐक मात्र क़िला है. क़िले के ऊपर तोपे भी देखने को मिलती हैं जो बहुत साल पुरानी है. दीव ओर नागोआ बीच पर पर्यटक घुमने आते हैं. क़िले से समुद्र का खुबसूरत नजारा दिखता है. क़िले का निर्माण 1536 में हुआ था. जब उस समय गुजरात के सुल्तान बहादुर शाह ने मुगल साम्राज्य के बादशाह हुमायूं द्वारा इस क्षेत्र को अपना कब्जा कर लेने के प्रयासों से बचाने के लिए पुर्तगलीओ के साथ रक्षा सन्धि कर ली. 1546 तक क़िले के निर्माण का कार्य चलता रहा.1961 में भारत द्वारा ओपरेशन विजय  चलाया बाद में दीव को भारत में मिला लिया. 


4:- गंगेश्वर महादेव मंदिर दीव - ( gangeshwar mahadev mandir diu)



गंगेश्वर महादेव मंदिर दीव, gangeshwar mahadev mandir diu

      गंगेश्वर महादेव मंदिर दीव के समुद्र तट पर स्थित है. और यह मन्दिर अद्भुत है  समुद्र की लहरें शिवलिंग का जलाभिषेक करने आती है. गंगेश्वर महादेव मंदिर दीव के फुटम गांव में स्थित है. दीव से 3 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है. यह मन्दिर ऐक गुफा मन्दिर है जो समुद्र की सट्टानो को बिच निर्माण किया गया. जो समुद्र के पानी धुलती रहती हैं. कथाओं के अनुसार इस मन्दिर का निर्माण पांडवों द्वारा कीय गया है. देनिक पुजा के लिए पाचो पांडवों ने पांच शिवलिंग का निर्माण किया. माना जाता है कि यह मन्दिर महाभारत काल से जुड़ा हुआ है.

     दूर दूर से श्रद्धालु महादेव के दर्शन करने आते हैं. यहां पर बहुत सारे पर्यटक आते हैं आप भी परिवार के साथ ऐक बार गंगेश्वरमहादेव के दर्शन करने आए.

5:- सुर्यास्त बिंदु दीव - (sunset point diu)


sunset point diu, सुर्यास्त बिंदु दीव

      दीव का सुर्यास्त नजारा बेहद खूबसूरत दिखता है. दीव में चक्रतीरथ तट के पास ऐक पहाड़ी हैं. जहां से सुर्यास्त का  खुबसूरत नजारा दिखता है. सुर्यास्त का नजारा देखने के लिए बहुत सारी पर्यटक आते हैं. आप यहां पर पार्टनर के साथ या परिवार के साथ सुर्यास्त का नजारा देखने का आनंद ले सकते हैं.

इन्हें भी पढ़ें -  कच्छ ओफ रन के  दर्शनीय स्थल की जानकारी 


6:- घोघला बीच दीव (ghogla Beach diu)


घोघला बीच दीव, ghogla Beach diu

      घोघला बीच बहुत सुन्दर बीच है यह दीव शहर के उत्तर में स्थित है. यहा पर आप सफिंग, तेरना, सनबाथ कर सकते हैं. यह बीच शहेर दुर हे इसलिए यह बीच के बारे में ज्यादा लोगों जानते नहीं. यहां पर आप एकान्त में पार्टनर या परिवार के साथ समय बिताने के लिए बहुत अच्छी जगह है. यहां पर आप फ़ोटोग्राफ़ी और पिकनिक कर सकते हैं. यहां पर कम लोग आते हैं तो आप अकेले रहना चाहते हों तो फिर यहां पर जा सकतें हैं.

7:- बच्चों के लिए डायनोसोर पार्क दीव  - (dinosaur Park for kids diu)

    

डायनोसोर पार्क दीव, dinosaur Park  diu

       यह पार्क समुद्र तट के किनारे पर स्थित है. इस पार्क का निर्माण नवीनतम है. ओर यह पार्क नागोआ बीच से थोडी दूरी पर स्थित है. बीच के पास ही नी कि वज़ह से यह पार्क यात्रियों के बिच काफी लोकप्रिय है.


8:- होका पेड़ दीव - (hokka tree diu)


होका पेड़ दीव, hoka tree diu


     होका पेड़ दीव में बहुत बड़ी संख्या में पाये जाते हैं. नागोआ बीच के रास्ते में यह पेड़ देखने को मिलते हैं. जो पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए बहुत है. यह पेड़ बहुत बड़े होते हैं. इन पेड़ों में भाले जेसे नुकीली डालियां होती है. होका पेड़ के फल बड़े और लाल रंग के होते हैं. यात्रि यह पेड़ देखना पसंद करते हैं.

9:- जलंधर बीच दीव - (jallandhar beach diu)

       
 जलंधर बीच दीव, jallandhar beach


      जलंधर बीच खुबसूरत और शान्तिप्रिय बीच है. यह दीव से 1 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है. यहां पर ऐक मन्दिर ओर स्मारक है मन्दिर देवी चंद्वीका को समर्पित है और स्मारक राक्षस जलंधर को समर्पित है. जलंधर नाम से इस बीच का नाम जलंधर बीच पडा है. आप एकान्त में प्रकृति की गोद में कुछ समय बिताने चाहते हैं तो यहां पर आ सकते है. 

10:- सेंट पोल चर्च दीव - (st. Palu church diu)
        
सेंट पोल चर्च दीव, st. Palu church diu)


      सेंट पोल चर्च कि स्थापना पोर्तगालीयो द्वारा 1610 में निर्माण किया गया. सेंट पोल चर्च का नाम सेंट पोल के नाम पर रखा गया जो यीशु मसीह से जुड़ा हुआ है. यहां पर ईसाई समुदाय के लोग प्रार्थना करने आते हैं. ईस चर्च की वास्तुकला सबसे अच्छे वास्तुकला की क्षेणी में गीनी जाती है. यहां पर 101 मोमबत्ती रखने के लिए जगह है. चर्च की वास्तुकला इसे प्रलावशाली बनाती है.


11:- गोमतीमाता बीच दीव - (gomtimata Beach diu)

   
गोमतीमाता बीच दीव, gomtimata Beach diu


       गोमती माता बीच दीव के पश्चिमी छोर वनकबारा में स्थित है. यहां पर गोमती माता का मंदिर भी है. जब पर्यटक बीच पर मस्ती कर के थक जाते हैं बाद में मन्दिर में समय बिताते हैं. यह बीच शान्त बीच हैं. इसका तट किनारा भी बड़ा और पथ्थरीला है. यहा पर आप पार्टनर ओर परिवार के साथ ऐकान्त में समय बिता सकते हैं.


12:- सागर शैल संग्रहालय दीव - (sea shell museum diu)

          
सागर शैल संग्रहालय दीव, sea shell museum diu


       सागर शैल संग्रहालय पूर्वी  हिस्से में नागोआ बीच के पास ही स्थित है. इस संग्रहालय को नैवी के कप्तान फुलवारी ने स्थापित किया. यह संग्रहालय एशिया का सबसे बड़ा सागर शैल संग्रहालय है. यहां पर 2500 से 3000 श्रेणियों की शैल संग्रहालय में रखी गई है. इस  संग्रहालय में आपको शैल को करीब देखने का ओर अध्ययन कर सकते हैं. आप शैल की विषेशता देख सकते हैं.

        संग्रहालय में कई प्रकार की शैल रखि गई है. उसमें बिच्छू, सीप, कॉकल, मोती, जलीय शैल और अन्‍य प्रकार के शैल भी रखें गये है. विभिन्‍न रंग, रूप, ढंग, आकार - प्रकार के है. यहां पर बहुत सारे पर्यटक शैल संग्रहालय की मुलाकात करते हैं.



• दीव केसे पहुंचें - How to reach Diu


         दीव अच्छे सड़क नेटवर्क से जुडा हुआ है. आप यहां पर सड़क, हवाई मार्ग, ओर ट्रेन से भी दीव पहुंच सकते हैं. चलिए जानते हैं आप दीव केसे पहुंच सकते हैं.

          : हवाई मार्ग से दीव कैसे पहुंचें - How to reach Diu by flight 
      
हवाई मार्ग से दीव कैसे पहुंचें - How to reach Diu by flight

       आप हवाई मार्ग से दीव पहुंच सकते हैं. दीव का ऐक मात्र हवाई अड्डा है जो मुम्बई, पोरबंदर ओर अहमदाबाद से जुड़ा हुआ है. आप यहां से फ्लाइट ले कर सीधे दीव जा सकते हैं.

           : ट्रेन मार्ग से दीव कैसे पहुंचें - How to reach Diu by train


ट्रेन मार्ग से दीव कैसे पहुंचें, How to reach Diu by train

           दीव का कोई रेलवे स्टेशन नहीं है. परंतु आप नजदीकी रेलवे स्टेशन वेरावल है. जो 87 किलोमीटर की दूरी पर है. आप वहां से बस या टैक्सी कर सकते हैं.

         : सड़क मार्ग से दीव कैसे पहुंचें - How to reach Diu by road 
    
 सड़क मार्ग से दीव कैसे पहुंचें, How to reach Diu by road

         सड़क मार्ग से दीव जाने के लिए गुजरात राज्य परिवहन द्वारा वेरावल, अहमदाबाद, राजकोट, से कई बसें चलती हैं. ओर बहुत सारी खानगी बसे स्लीपर, टैक्सी ले सकते हो. मुंबई, अहमदाबाद से NH8 सेल्फ ड्राइवीग कर सकते हो.
       

No comments:

Post a Comment

Give me your feedback